giloy juice benefits
Ayurveda

गिलोय जूस के फायदे, नुकसान व औषधीय गुण – Benefits of Giloy Juice

admin

पान के पत्ते के जैसा दिखने वाला गिलोय आयुर्वेद का वह वरदान है जो आपके शरीर को स्वस्थ बना सकता है I इन पत्तों में आपके शरीर को स्वस्थ बनाने की ताकत है I इसके हर हिस्से में गुणों का भंडार है इसकी पत्तियों और डंठल के अलावा इसके पाउडर में कैल्शियम, फोस्फोरस, प्रोटीन पर्याप्त मात्र में पाया जाता है I गिलोय जूस शरीर के लिए काफी फायदेमंद है, यह हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है और खतरनाक बीमारियों जैसे मधुमेह, अलेर्जी और अस्थमा से बचाता है I

Botanical Name of Giloy – Tinospora Cordifolia

Madhuparni, Guduchi, Amrita, Rasayani

यह एक प्राचीन आयुर्वेदिक हर्ब है और इसके बहुत सारे फायदे है, इसे आयुर्वेद में, नेचुरोपैथी में और आधुनिक medicine में भी इस्तेमाल किया जाता है I वैसे तो गिलोय का पूरा पौधा ही लाभदायक होता है लेकिन इसमें सबसे अधिक उपयोग की चीज होती है इसकी डांडिया I बाज़ार में इसके पाउडर और कैप्सूल भी उपलब्ध है I

भारत सरकार के आयुष विभाग ने यह तय किया है की गिलोय क फायदे को आम लोगों तक पहुँचाया जाए ताकि इसे राष्ट्रीय औषद्धि के रूप में दुनिया भर में पहचान मिल सके I आप में से बहुत से लोगों ने गिलोय का नाम जरूर सुना होगा I गिलोय मुख्य रूप से एक वनस्पति है जिसे आयुर्वेद में गंभीर बिमारियों का इलाज होता है अपने खास गुणों की वजह से गिलोय को आयुर्वेद में गुडूची और अमृता भी कहा जाता है I

होमियोपैथी में भी गिलोय से खास दवाएं तैयार की जाती है जिससे जीवनशैली से जुडी बीमारियाँ जैसे मधुमेह, अलेर्जी और अस्थमा का इलाज किया जाता है और पौराणिक कथाओं में भी गिलोय का उल्लेख मिलता है माना जाता है की लंका में भगवन राम और रावण के युद्ध के दौरान भगवान राम के सेना के कई वानर मारे गए थे जिन्हें दुबारा जीवित करने के लिए श्री राम ने अमृत वर्षा का आवाहन किया जिसके बाद आकाश से अमृत वर्षा हुई जिससे वानर जीवित हो गये I कहा जाता है की अमृत वर्षा में जहाँ जहाँ अमृत की बूंदे गिरी वह गिलोय के पौधे उत्पन्न हुए I

गिलोय की डंडियों का काढ़ा कैसे बनाये

  • गिलोय का काढ़ा ताज़ी डंडियों से बनाया जाता है और पाउडर सूखी डंडियों से I जो डंडियाँ देखने में हरी दिखाई दे उनसे काढ़ा बनता है सबसे पहले डंडियों को छोटे छोटे टुकड़ों में काट ले और उनको अच्छी तरह कूट ले I
  • अब एक बर्तन में पानी को थोड़ी देर कर उबलने दे I पानी उबलने पर उसमे गिलोय की डंडियाँ डाले और ढक्कन से कुछ मिनट के लिए ढांक दे I
  • जब गिलोय की डंडियाँ फूलने लगे और अपना पानी का रंग बदल जाए तब बर्तन को थोड़ी देर के लिए ठंडा होने दे I
  • इसके बाद आप मिक्सी में गिलोय की डंडियों को पीस ले और एक कपडे की मदद से डंडियों से रस को निचोड़ ले ताकि पीने का रस अलग हो जाए I
  • अब इस रस को किसी कांच की बोतल में रख दे I आप इसका सेवन 1 महीने तक कर सकते है उसके बाद आप इसका सेवन न करे I
  • गिलोय को गुणों का भंडार क्यों कहा जाता है और इससे किस तरह की बिमारियों का इलाज किया जाता है

आयुर्वेद में गिलोय जूस के फायदे क्या है

  • दैनिक जीवन में भी गिलोय जूस का सेवन कुछ मात्रा में किया किया जा सकता है, आयुर्वेद के कुछ आचार्य इसे शक्तिशाली खाद्य पदार्थ मानते है और इस लिस्ट में आंवला, हल्दी, एलोवेरा और सूखे अदरक को भी रखा गया है ये साड़ी चीजें मानव शरीर को स्वस्थ बनाने में मदद करती है लेकिन इनमे गिलोय का स्थान सबसे ऊपर है I
  • गिलोय मुख्य रूप से इम्यून सिस्टम को अच्छा बनाता है I इसमें एंटी एलर्जिक, anti-inflammatory और anti- diabetic तत्व मौजूद होते है कुल मिलकर मानव शरीर के हर अंग के लिए गिलोय एक लाभकारी औषधि है I
  • गले में काफ बनना, सांस लेने में परेशानी, अस्थमा जैसे बिमारियों के लिए गिलोय एक फायदेमंद औषधि है I
  • डेंगू और मलेरिया जैसे बुखार को ठीक करने के लिए बहुत से एक्सपर्ट्स गिलोय लेने की सलाह देते है I इससे platlates की संख्या बढ़ाने में मदद मिलती है I
  • Type 2 Diabetes से पीड़ित रोगियों का सुगर लेवल ठीक करने के लिए भी गिलोय के इस्तेमाल की सलाह दी जाती है I इससे शरीर में इन्सुलिन हर्मोने बनने में मदद मिलती है जिससे सुगर लेवल ठीक रहता है I
  • पीलिया, Liver disorders को सही में करने में गिलोय बहुत लाभकारी है I यह शरीर में पहुँच कर खून को साफ़ करती है I
  • मोटापा कम करने में गिलोय काफी उपयोगी है I
  • रोजाना गिलोय का उपयोग करने से चेहरे पर झुरियां नहीं पड़ती और चेहरे पर तेज आता है जिससे आप अधिक समय तक यंग दिख सकते हो I
  • पाचन शक्ति को बढ़ाने के लिए गिलोय जूस का उपयोग किया जाता है जिससे पाचन क्रिया ठीक रहती है और बदहजमी नहीं होती I
  • Giloy juice का नियमित सेवन करने से बुखार, फ्लू, पेट में कीड़े होने की समस्या, लो ब्लड प्रेशर, दिल की बीमारी, Tb, भूख न लगने की समस्या, स्किन सम्बन्धी रोग, किसी भी प्रकार की एलर्जी, पेट सम्बन्धी रोग, रक्त विकार आदि बिमारियों को दूर करने में लाभ मिलेगा इसलिए इसे पूरे शरीर का हेल्थ टॉनिक भी कहा गया है I
  • गिलोय जूस लेने की विधि -अगर आपका इम्युनिटी सिस्टम कमजोर है तो आप इसे दिन में दो बार ले सकते है 15ml सुबह और 15 ml शाम को एक गिलास गुनगुने पानी के साथ I अगर आप इसका बेस्ट रिजल्ट देखना चाहते है तो इसे सुबह खली पेट लीजिये I छोटे बच्चे, गर्भवती महिलायं और बीमार व्यक्ति डॉक्टर से सलाह लेकर ही इसका सेवन करे I

Leave A Comment